Palmistry can tell you age of marriage

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmailby feather

 

 

हस्तरेखा से विवाह काल का ज्ञान

hastrekha-2
hastrekha-2

विवाह का समय, वैवाहिक जीवन, स्वास्थ्य आदि का ज्ञान जिस प्रकार जन्म कुण्डली में विवाह स्थान से ज्ञात होता है, उसी प्रकार हस्त रेखा में विवाह रेखा स्पष्ट करती है। हस्तरेखा से विवाह काल का ज्ञान करा रहे हैं आचार्य पवन त्रिपाठी…

विवाह रेखा सूर्य रेखा का स्पर्श कर अधोगमन करे, तो प्राणी का विवाह अनमेल होता है। यदि विवाह रेखा मस्तिष्क रेखा का स्पर्श करे तो वह व्यक्ति अपनी पत्नी का हत्यारा होता है। बुध पर्वत पर विवाह रेखा कई खण्डों में विभक्त हो जाए, तो बार-बार सगाई टूट जाती है। विवाह रेखा पर काला धब्बा होने पर प्राणी को पत्नी से सुख नहीं प्राप्त होता है। यदि विवाह रेखा ऊर्ध्वगमन करते हुए कनिष्ठा अंगुली के द्वितीय पर्व पर चढ़ जाए तो वह व्यक्ति आजीवन कुंवारा रहता है। विवाह रेखा बीच-बीच में पतली होकर पुन: चौड़ी होती हुई दिखाई, तो जीवनसाथी के अस्वास्थ्य को प्रकट करती है। ऐसे व्यक्ति की पत्नी निरंतर रुग्ण रहती है, जिसके कारण दांपत्य सुख की हानि होती है।

हस्त रेखाएं हमारे जीवन का दर्पण है। शास्त्रकारों ने इस विषय पर पर्याप्त अध्ययन कर मनुष्य को संपूर्ण शुभाशुभ फलों का निष्कर्ष प्राप्त करने में सफलता अर्जित की है। यह एक मौलिक सिद्धांत है। इसका अपवाद नहीं किया जा सकता है। मानव जीवन का चालीस प्रतिशत भाग दाम्पत्य जीवन पर आधारित है। अत: इस विषय को ठीक से ज्ञात कर लेने पर हम जीवन में सुख-शांति का आकलन कर सकते हैं। धमार्थकाम के अंतर्गत परिणय रेखा धर्म और अर्थ के मूल में अवस्थित देखी जाती है। इसी से हम व्यावहारिक जीवन की सफलता का निर्धारण में सभी एक मत हैं। पुराण, जैन मुनि तथा आधुनिक पाश्चात्य मूल तथा हृदय रेखा का उद्गम स्थल कनिष्ठिका मूल तथा हृदय रेखा के मध्य ही स्वीकार करते हैं।

इस लेख में विवाह रेखा के विभिन्न प्रकार और आकार-भेदों का सूक्ष्मता से विचार किया गया है। विवाह काल का निर्धारण, विवाह के दोनों पक्षों की स्थिति एवं भावी जीवन में इसके परिणामों को स्पष्टता के साथ परिभाषित किया गया है।

 

Knowledge of marriage age palmistry
hastrekha-2

Time of marriage, marital, health, etc. Knowledge is known as the birth place of marriage in the sun, so the palm marriage line is clear. Acharya sense of eternity are made from palm wind Tripathi marriage

Subsidence of the line tangent line to marry Sun, the creature is odd marriage. If the marriage line tangent line to the brain, that person is his wife’s killer. Be divided into several sections on the Mount of Mercury marriage line, the engagement is broken repeatedly. Marriage is a black spot on the line does not get pleasure from the creature wife. If the marriage line up to higher if the pinky finger on the second occasion he is a lifelong bachelor. Thin line in between the wedding and again appears to be wide, reflects the sickness of the soul. The wife is constantly sick person, which is the loss of marital happiness.

Hand lines that mirror our lives. Shastrkaron adequate studies on the subject of human success in achieving overall conclusion is Shubashub fruit. It is a fundamental principle. The exception may be. Forty percent of human life is based on conjugal life. So at this point to determine accurately assess peace in life we can. Dmarthakam the knot line located at the origin of religion and the meaning is seen. By this we are not all in determining the success of the practical life. Mythology, Jain monk and the cradle of modern Western origin and heart line Knishtika heart line between original and accept.

In this article, various types and sizes of marriage line finelymysteries have been considered. Marriage period to determine the position of both sides of the marriage and its consequences in the future life is defined with clarity.