Posts Tagged ‘रजाई के लिये’

रजाई के लिये

रजाई के लिये सर्दी के मोसम मे एक स्टूडैन्ट अपने पापा को इंगलिश मे खत लिखता है
और गलती से रजाई की जगह लुगाई की इस्पेलिंग लिख देता है और जब पापा खत पडते है

आदरणीय पापाजी चरण स्पर्श मे यहां ठीक हू और आशा करता हू की आप लोग सब अच्छे से होगे

आगे समाचार यह है कि मेरी लुगाई पुरानी और बेकार हो गई है
और
यहॉ सर्दी अधिक पड रही है
अभी दोस्तो की लुगाइयों से काम चल रहा था
लेकिन
सर्दी अधिक पडने से वे भी अपनी लुगाई देने मे आना कानी करते है
मेरे लिये एक लुगाई का इंतजाम कर दो
नई ना ला सको तो बडे भैया की लुगाई भेज दो
बडे भैया की ना मिले तो मझले भैया की लुगाई भेज
दो
सर्दी मे बुरा हाल है
दो भाईयों मे से किसी एक की लुगाई जरूर भेज दो

दोनों मे से किसी की भी न भेज सको तो पैसे भेज दो मैं यहॉ किराये कि लुगाई ले लूंगा

Be the first to comment - What do you think?  Posted by admin - January 21, 2016 at 8:16 am

Categories: Relations   Tags:

© 2010 PupuTupu.in